उत्तरकाशी-जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने विभिन्न नवनिर्मित योजनाओं का किया स्थलीय निरीक्षण,स्यूणा गावं के लोगों को शीघ्र इलेक्ट्रिक ट्रॉली लगाने का दिया भरोसा - PiyushTimes.com | Uttarkashi News

ब्रेकिंग न्यूज़

 



Saturday, February 27, 2021

उत्तरकाशी-जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने विभिन्न नवनिर्मित योजनाओं का किया स्थलीय निरीक्षण,स्यूणा गावं के लोगों को शीघ्र इलेक्ट्रिक ट्रॉली लगाने का दिया भरोसा

 उत्तरकाशी-जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने विभिन्न  नवनिर्मित योजनाओं का किया स्थलीय निरीक्षण,स्यूणा गावं के लोगों को शीघ्र इलेक्ट्रिक ट्रॉली लगाने का दिया भरोसा



उत्तरकाशी।।। जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने स्यूणा गांव में लघु सिंचाई विभाग द्वारा नवनिर्मित 5 किलो वाट सोलर पंप का स्थलीय निरीक्षण किया।  जिलाधिकारी ने सोलर पलांट की देख रेख के लिए गांव की एक समिति बनाने को कहा। सोलर पंप से सिंचाई की सुविधा होने से नकदी फसलों, सब्जी उत्पादन के लिए काश्तकारों को प्रेरित किया । जंगली जानवरों से ग्रामीणों की फसल बचाने के लिए घेरबाड़,व पॉलीहाउस बनाने के निर्देश मुख्य कृषि अधिकारी को दिए। सोलर पंप से सिचाई योजना के और भी प्रोजेक्ट लगाने हेतु प्रस्ताव सम्मलित करने के निर्देश अधिशासी अभियंता लघु सिचाई को दिए। 



वहीं जिलाधिकारी के निरीक्षण के दौरान ग्रामीणों द्वारा गांव में पीने के पानी, रास्ता व मंदिर के पास बैठने के लिए सुगम बनाने,आवागमन के लिए भागीरथी नदी पर हस्तचलित ट्राली के स्थान पर स्वचलित ट्राली लगाने की मांग की । जिस पर जिलाधिकारी ने जल जीवन मिशन के अंर्तगत पानी का संयोजन देने,रास्ता बनाने व गांव के सुगम आवागमन के लिए नदी पर इलेक्ट्रिकल स्वचलित ट्राली लगाने का भरोसा दिया।



 जिलाधिकारी ने गंगोरी में मत्स्य पालन विभाग की ग्रेडिंग व रीयरिंग कार्यो का भी निरीक्षण किया। तथा मछली की विभिन्न प्रजातियों को भी देखा। जनपद में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने व गंगोरी में मत्स्य तालाब का सौंदर्यीकरण  करने,बाउंड्रीवाल लगाने, केम्पस के अंदर जर्जर भवन तोड़ने,मतस्य पालन परिसर पर पौध प्लांटेशन करने व राष्ट्रीय राजमार्ग की ओर मुख्य गेट का बोर्ड आकर्षक व डिज़ायनिंग बनाने के निर्देश मतस्य निरीक्षक को दिए।  ताकि टूरिज्म को भी बढ़ावा मिल सकें। साथ ही मछलियों की प्रजाति का डिसप्ले बोर्ड बनाने के निर्देश दिए ताकि पर्यटक,मत्स्य पालक के अलावा स्कूली बच्चे भी मछली की विभिन्न प्रजाति को देख सकेंगे।



जिलाधिकारी ने एएनएम ट्रेनिंग सेंटर, मातृत्व शिशु केंद्र नेताला का भी निरीक्षण किया। नवनिर्मित मातृत्व शिशु केंद्र के निर्माण के दौरान छोड़ी गई मलबा, रेत को एक सप्ताह के भीतर हटाने व रेम्प बनाने के निर्देश सीएमओ को दिए। पीएचसी में खराब बिजली के स्विचों को ठीक कराने व विद्युत संयोजन लगाने के निर्देश भी दिए गए।जिलाधिकारी ने उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग टिशू कल्चर लेब का भी निरीक्षण किया। 


जिलाधिकारी ने कहा कि  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह  की प्रेरणा से स्वरोजगार को बढ़ावा देने व किसानों की आय दोगुनी करने हेतु इस वर्ष जिला योजना से किसान हित मे अनेक कार्य किए जा रहे है। टिशू कल्चर लेब से किसानों को उन्नत किस्म के पौध मिलेंगे वहीं सोलर पंप से सिंचाई की सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। वर्तमान में स्यूणा गांव में 6 हेक्टेयर खेती सोलर पंप से सिंचित हो रही है। टिशू कल्चर लेब नेताला में स्टाफ की तैनाती कर दी गई है। और आगामी 1 अप्रैल से कार्य विधिवत प्रारम्भ हो जाएगा।


इस दौरान अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई वीके गुप्ता,मुख्य कृषि अधिकारी गोपाल भंडारी,मत्स्य निरीक्षक विशेश्वर प्रसाद आदि उपस्थित रहें।



रिपोर्ट-हेमकान्त नौटियाल

No comments:

Post a Comment